घुटने का आघात

घुटने की कई समस्याएं उम्र के बढ़ने और लगातार जोर और तनाव (यानी, गठिया) के कारण होती हैं। घुटने की अन्य समस्याएं चोट लगने या अचानक होने वाली गतिविधि के परिणामस्वरूप होती हैं जो घुटने को खिंचाव देती हैं। सामान्य घुटने की समस्याओं में निम्नलिखित शामिल हैं:

मोच या खिंचाव वाले मांसपेशियां या घुटने के अस्थि-बंधन मांसपेशी या घुटने के अस्थि-बंधन में मोच या खिंचाव आमतौर पर घुटने को झटका लगने या घुटने के अचानक मुड़ने के कारण होती है। दर्द, सूजन और चलने में कठिनाई जैसे लक्षण दिखाई देते है।

फटी/टूटी हुई उपास्थि-

घुटने की चोट मेनिसकी  को फाड़ सकते हैं (संयोजी ऊतक के पैड जो झटके को रोकने के रूप में कार्य करते हैं और स्थिरता भी बढ़ा सकते हैं)। कार्टिलेज का फटना अक्सर मोच आने के वजह से हो सकता है। घुटने को चोट से बचाने के लिए गतिविधि के दौरान ब्रेस पहनना सही उपचार हो सकता है। फटी/टूटी हुई उपास्थि को ठीक करने के लिए सर्जरी की जरूरत पड़ सकती है।

टेंडिनाइटिस-

टेंडन की सूजन कुछ गतिविधियों जैसे कि दौड़ना, कूदना, या साइकिल चलाने के दौरान टेंडन का ज्यादा प्रयोग होने से हो सकती है। पटेलर टेंडन के टेंडोनाइटिस को जम्परस नी कहा जाता है। यह अक्सर बास्केटबॉल जैसे खेल खेलते वक़्त होता है, जहां एक छलांग लगाने के बाद जमीन से टकराते समय टेंडन में खींचाव आ जाता है।

गठिया-

ऑस्टियोआर्थराइटिस गठिया का सबसे आम प्रकार है जो घुटने को नुक्सान पहुँचाता है। ऑस्टियोआर्थराइटिस एक अपक्षयी प्रक्रिया है जहां जोड़ो में से उपास्थि धीरे-धीरे दूर हो जाती है, और अक्सर मध्यम आयु और वृद्ध लोगों को प्रभावित करती है। ऑस्टियोआर्थराइटिस जोड़ों पर अतिरिक्त तनाव के कारण हो सकता है जैसे कि बार-बार चोट लगना या अधिक वजन ढोना। रुमेटीइड गठिया भी घुटनों को प्रभावित कर सकता है जिससे संयुक्त सूजन हो सकता है और घुटने के उपास्थि को नष्ट कर सकता है। रुमेटीइड गठिया अक्सर ऑस्टियोआर्थराइटिस की तुलना में कम उम्र के व्यक्तियों को प्रभावित करता है।

घुटने की समस्याओं का निदान कैसे किया जाता है?

एक पूरी मेडिकल जानकारी और फिजिकल एग्जामिनेशन के अलावा, घुटने की समस्याओं के लिए नैदानिक प्रक्रियाओं में निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं:

एक्स-रे-

एक नैदानिक ​​परीक्षण जो फिल्म पर आंतरिक ऊतकों, हड्डियों और अंगों की छवियों का दिखाने के लिए अदृश्य विद्युत चुम्बकीय ऊर्जा बीम ( invisible electromagnetic energy beams) का उपयोग करता है।

मैग्नेटिक रेजोनेंस इमेजिंग (एमआरआई)-

इस नैदानिक ​​प्रक्रिया में शरीर के भीतर के  अंगों और संरचनाओं की विस्तृत छवियों का उत्पादन करने के लिए बड़े मैग्नेटस , रेडियोफ्रीक्वेंसी और कंप्यूटर के संयोजन का उपयोग किया जाता है; अक्सर आसपास के लिगामेंट या मांसपेशियों में चोट, घाव या बीमारी का पता लगाया जा सकता है।

कंप्यूटेड टोमोग्राफी स्कैन (जिसे सीटी या सीएटी स्कैन भी कहा जाता है।)-

इस नैदानिक ​​इमेजिंग प्रक्रिया में शरीर के क्षैतिज और लंबवत रूप से क्रॉस-अनुभागीय छवियों (प्रायः स्लाइस कहा जाता है) के उत्पादन के लिए एक्स-रे और कंप्यूटर प्रौद्योगिकी के संयोजन का उपयोग किया जाता है। सीटी स्कैन शरीर के किसी भी हिस्से की विस्तृत छवियों को दिखाने में सहायता करता है, जिसमें हड्डियां, मांसपेशियां, फैट और अंग शामिल हैं। सीटी स्कैन सामान्य एक्स-रे की तुलना में अधिक विस्तृत है।

आर्थोस्कोपी-

जोड़ो की स्थितियों के लिए उपयोग किया जाने वाला न्यूनतम-इनवेसिव निदान और उपचार प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया में एक छोटी, लाइट , ऑप्टिक ट्यूब (आर्थ्रोस्कोप) का उपयोग होता है जिसे जोड़ो में एक छोटे चीरे के माध्यम से डाला जाता है। जोड़ो के अंदर की छवियों को एक स्क्रीन पर दिखाया किया जाता है और जोड़ो में किसी भी अपक्षयी और / या गठिया जैसी कोई भी बीमारी का पता लगाने के लिए उपयोग किया जाता है; हड्डीयों में कोई रोग और ट्यूमर का पता लगाने के लिए; और हड्डी में दर्द और सूजन का कारण निर्धारित करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

रेडियोन्यूक्लाइड बोन स्कैन-

एक परमाणु इमेजिंग तकनीक जो बहुत कम मात्रा में रेडियोधर्मी सामग्री का उपयोग करती है, जिसे एक स्कैनर द्वारा पता लगाए जाने के लिए रोगी के रक्तप्रवाह में इंजेक्ट किया जाता है। यह परीक्षण हड्डी में रक्त प्रवाह और हड्डी के भीतर कोशिका की गतिविधि को दर्शाता है।

घुटने की समस्याओं के लिए उपचार:

आपके घुटने की समस्याओं का विशिष्ट उपचार आपके डॉक्टर द्वारा निम्न स्थिति के अनुसार निर्धारित किया जाएगा:

आपकी आयु, समग्र स्वास्थ्य और मेडिकल हिस्ट्री

बीमारी, चोट या स्थिति का बढ़ना विशिष्ट दवाओं, प्रक्रियाओं, या उपचारों के लिए आपकी सहनशीलता बीमारी, चोट या स्थिति के लिए कोर्स आपकी राय के अनुसार यदि शुरू में किये गए उपचार से राहत नहीं मिलता हैं, और एक्स-रे में जोड़ो का ख़राब होना दिखता हैं, तो ऑर्थोपेडिस्ट घुटने के लिए पुरे जोड़ो के प्रतिस्थापन की सलाह दे सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.